मनसा देवी मंदिर हरिद्वार जहां श्रद्धालुओं द्वारा मन्नत के लिए बांधा जाता है धागा। Mansa Devi Temple Story, Timing, Ropway Ticket Pirce, in Hindi

Mansa devi Mandir – Hairdwar में कहीं प्राचीन मंदिर है। प्रत्येक मंदिर व तीर्थ का हिन्दू धर्म में आस्था रखने वाले विश्व भर के करोडो श्रद्धालुओं के मन में उच्च स्थान है। हरिद्वार के इन्ही सेकड़ो मंदिरो में से एक है मनसा देवी मंदिर। मनसा देवी टेम्पल शिवालिक पर्वतमाला के विल्वा पहाड़ी पर स्थित है। मां मनसा देवी मंदिर हरिद्वार का बहुत पुराना मंदिर है, यहां प्रतिवर्ष लाखों श्रद्धालु दर्शन करने आते हैं।

मां Mansa Devi Mandir Haridwar के हर की पौड़ी से मात्र 3 – 4 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह शिवालिक पर्वतमाला के बिल्वा पहाड़ पर स्थित है, मंदिर तक आप पैदल व केबल कार (उड़न खटोला या रोपवे) दोनों से ही जा सकते हैं, रास्ते में बंदर भी देखने को मिलेंगे जिन्हें खिलाने के लिए वहां पर चने बेचने वाले भी आपको नजर आ जाएंगे।

जैसे जैसे आप पहाड़ी के ऊपर जायेंगे आपको थकान हो सकती है। लेकिन ऊपर पहुंचने के बाद आप वहां से हरिद्वार व शिवालिक घाटियों के सुन्दर नज़ारे देख कर आपकी थकान चंद भर में दूर हो जाएगी और आपको एक नई ऊर्जा मिलेगी।

मनसा देवी मंदिर की पौराणिक इतिहास (Story of Mansa Devi in Haridwar)

मनसा देवी को शिव भगवान की मानस पुत्री के रूप में पूजा जाता है, कहा जाता है कि मनसा देवी की उत्पत्ति की उत्पत्ति मस्तक से हुई है, इसलिए इनका नाम मनसा पड़ा। मनसा देवी को नागों की देवी भी कहा भी कहा जाता है । इसलिए इनका एक नाम नागकन्या भी है, पौराणिक मान्यता है कि जब भगवान शिव ने एक बार विष पीया था, तो मनसादेवी ने भगवान शिव को बचाया था। जिसके कारण इनका नाम विषकन्या भी कहलाया। भारत के बहुत बड़े भूभाग पर बिहार झारखंड बंगाल इत्यादि में मनसा देवी की पूजा विषकन्या के रूप में होती है। भादो या भाद्रपद के माह में पूरे महीने इनकी पूरे महीने इनकी में पूरे महीने इनकी पूजा होती है।

मनसा देवी मंदिर की मान्यता 

Mansa Devi Mandir ke bare me जैसा कि नाम से ही जाहिर होता है यानी अपने भक्तों की मंशा यानी मन की इच्छा पूरी करती है। भक्त यहां अगर अपने मन की इच्छा पूरी करने के लिए पेड़ पर धागा बांधते हैं, और मन्नत पूरी होने पर धागा खोलने के लिए वापस यहां आते हैं। लेकिन रोजाना इतने सारे धागे बांधे जाते है कि अपने वाला धागा ढूंढ पाना मुश्किल हो जाता है इसीलिए श्रदालु कोई एक धागा खोल लेते है। 

माना जाता है कि मां मनसा देवी की पूजा यहां के आदिवासी लोग किया करते थे लेकिन आज के समय में हरिद्वार आने वाला हर सजा लो मां मनसा देवी के दर्शन किए बिना अपनी यात्रा को अधूरा मानता है तो आप भी यदि हरिद्वार आते हैं तो मां मनसा देवी के दर्शन अवश्य करें।

मंदिर खुलने का समय (Mansa devi Temple in Haridwar timings)

Mansa Devi  Mandir सुबह 8:00 बजे से शाम 4:00 बजे तक खुला रहता है, दोपहर 12:00 से 2:00 के बीच बंद रहता है। आप Mansa devi Mandir Haridwar सुबह के समय दर्शन कर सकते हैं, क्योंकि यदि आप शाम को वहां जाते हैं तो Har Ki Pauri में होने वाली गंगा आरती आप मिस कर जाएंगे। हरिद्वार में सबसे खूबसूरत यहां की Ganga Arti होती है। यदि आप शाम को मनसा देवी टेंपल जाते हैं तो आप गंगा आरती मिस कर सकते है। 

Mansa Devi Haridwar ropeway ticket price 2021

Mansa Devi Mandir

Haridwar से Mansa Devi यदि आप Udan khatola यानि ropeway से जाते है तो इसका किराया कितना है।यह नीचे हम आपको बता रहे है। लॉकडाउन के दौरान रोपवे बंद था, लेकिन अब यह चल रहा है। Ropeway booking आप ऑनलाइन और ऑफलाइन (जाने पर) दोनों ही तरह से कर सकते है। ऑनलाइन बुकिंग के लिए आप यहां दी गयी लिंक पर क्लिक कर सकते है। For ऑनलाइन बुकिंग  Click here.

दोनों तरफ (Both Side) 122 Per Person
केवल एक तरफ (Single Side) 85 Per Person
बच्चो के लिए  60 Per Child

Distance from Mansa Devi Temple

  • Nearest Airport                          Jolly Grant Dehradun   (Distance 40 km)
  • Nearest Railway Station        Haridwar                          (Distance – 4km)
  • Nearest Bus Station                 Devpura, Haridwar         (Distance – 4km)

Haridwar (Mansa Devi Tempe) Google Map

Also read

4 thoughts on “मनसा देवी मंदिर हरिद्वार जहां हर वर्ष लाखों श्रद्धालु बृक्ष पर बांधते है मन्नत के लिए धागा। Mansa Devi Mandir in Haridwar”

Leave a Comment

error: Content is protected !!